सोशल मीडिया और व्हाट्सप्प पर इस तरह की फेक न्यूज़ आये दिन वायरल होती रहती है. लोग इस तरह के मेसेज पढ़ते है, और बिना कुछ समझे आगे बढ़ा देते है. और इसी तरह ये फालतू मेसेज वायरल हो जाता है.

जहा एक तरफ कोरोना वायरस के चलते लोग घरों में ही बंध है, वही कुछ लोग इसी का फायदा उठाने इस तरह की स्कीम निकाल कर ऑफर के नाम पर गोरख धंधा चालू कर देते है.

मेसेज में लिखा होता है “Jio इस कठिन परिस्थिति में दे रहा है सभी इंडियन यूजर को 498 रुपए का फ्री रिचार्ज, तो अभी नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करके अपना फ्री रीचार्ज प्राप्त करें… कृपया ध्यान दे: यह ऑफर केवल 31 March तक ही सिमित है!”

जाहिर सी बात है इस तरह का मेसेज आता है तो नार्मल लोग इसको सच मान कर आगे फैला देते है. पर कैसे पता चलेगा की ये मेसेज रियल है या फेक? तो आसान सा तरीका का इसे जानने का, जो लिंक आपको दिया जाता है उस लिंक को ध्यान से देखना है. लिंक में जरूर स्पेलिंग मिस्टेक या एक्स्ट्रा वर्ड्स होंगे. जिओ की इस तरह की कोई भी वेबसाइट नहीं है, ना ही जिओ की तरफ से ऐसे कोई प्लान की घोषणा की गयी है.

आप चाहे तो जिओ की ऑफिसियल वेबसाइट पर जा कर चेक कर सकते है. www.jio.com

जिओ के नाम से यह लोग आपके फ़ोन्स को वायरस(नॉट कोरोना) से एफ्फेक्टेड कर सकते है, इस तरह के वायरस आपके मोबाइल या लैपटॉप से निजी जानकारिया निकालने के लिए उपयोग में लिया जाता है.

तो दोस्तों, आगे से इस तरह के किसी भी मेसेज को आप देखो तो एक बार सोचकर, वेरीफाई कर ने के बाद ही किसी को फॉरवर्ड करना. लेकिन इस आर्टिकल को शेयर करना मत भूलना. जितने लोगो तक वह फेक न्यूज़ पोह्ची है, वही लोगो तक यह न्यूज़ भी पोहचा दो. जय हिन्द.

Share: